Flowers for September garden

posted in: Posts in Hindi, Uncategorized | 2

सितम्बरके महीने में ज्यादातर बरसात होती रहती है| इस महीने में बरसात की वजह से कभी तापमान ज्यादा तो कभी कम रहता है | इस मौसम में फूल बहुत कम ही पौधों में देखने को मिलते हैं |

आज हम गेंदा (Marigold) के बारे में चर्चा करेंगे जो की लगभग एक सदाबहार पौधा है और ये फूलों की क्यारियों में अनेकों रंग बिखेरता है| इसके सुंदर फूल बाग़ और क्यारिओं को तो सुंदर बनाते ही हैं साथ ही साथ  इनसे खुश्बू भी बहुत अच्छी आती है| इसकी खुश्बू से मच्छर एवं कई और तरह के कीड़े दूर भागते हैं| यह एक आयुर्वेदिक पौधा भी है|

गेंदे के पौधे जो सितम्बर के महीने में तैयार किये जाते हैं –

  • Marigold Inca F1 (Orange & Yellow):

ये पौधा नारंगी और पीले रंग का होता है| यहाँ F1 का मतलब ये है की यह एक हाइब्रिड (Hybrid) पौधा है| इसका पौधा छोटा होता है पर फूल इसमें काफी बड़े लगते हैं|

african-marigold-garden-planner-punjab

 

Spacing (2 पौधों के बीच की दूरी):   8-10” (20-25 Cm)

Height (लम्बाई)                        :   20” (51 Cm)

Width (चौड़ाई)                         :  10” (25 Cm)

 

  • Marigold Bonanza French:

ये पौधा हलके पीले और नारंगी रंग का होता है | ये पौधा छोटा होता है और इसमें फूल भी छोटे आते हैं पर एक पौधे में बहुत सारे फूल आते हैं|

garden punjab-garden-planner-marigold-bonanza

Spacing (2 पौधों के बीच की दूरी) :  6-10” (15-25 Cm)

Height (लम्बाई)                        :   10-12” (25-30 Cm)

Width (चौड़ाई)                          :   6-8” (15-20 Cm)

 

गेंदे (Marigold) के बीज बोने की विधि:

  • बीज हमेशा अच्छी quality के लाइए|
  • एक गमले में या क्यारी के एक छोटे से हिस्से में खाद/जैविक खाद डालकर मिट्टी तैयार कर लें |
  • गेंदे के बीजों को 1-2 इंच नीचे डालें|
  • अभी पानी उतना ही डालें जितने से मिट्टी में नमी की मात्रा बनी रहे |
  • जब पौधे 2-3 इंच के हो जाएँ तो उन्हें वहां से निकाल कर जरुरत अनुसार गमलों या क्यारियों में लगा लें|
  • पौधे (पनीरी) लगाते समय Spacing का ध्यान रखें|

2 Responses

  1. Kenneth khayyam
    | Reply

    very nice sowing tips Admin

  2. Dwb Ariyan
    | Reply

    Hi,
    Very Nice article. Keep up the good work

Leave a Reply